विधानसभा सत्र से पहले गैरसैंण में राजनितिक पारा चरम पर All political activities shift to Gairsain

विधानसभा सत्र से पहले गैरसैंण में राजनितिक पारा चरम पर All political activities shift to Gairsain


एक बार फिर गैरसैंण में गहमागहमी चरम पर है। नवंबर २ से शुरू होने वाले पांच-दिवसीय विधानसभा सत्र के दौरान राजनितिक पारा एकदम चढ़ा हुआ होगा। अभी से राजनितिक और सामाजिक संगठनों ने रैलियां और मीटिंग्स शुरू कर दी हैं। शनिवार को उत्तराखंड क्रांति दल ने एक सभा की वहीं राज्य आंदोलनकारियों ने भी एक मीटिंग की। दूसरी तरफ कांग्रेस और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का गैरसैंण आना शुरू हो गया है तो वहीं सरकारी अमले ने विधानसभा सत्र के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं…



उक्रांद ने कहा- सरकार जन भावनाओं का कर रही अपमान

गैरसैंण राजधानी के लिए निकाला मशाल जुलूस


त्तराखण्ड क्रांति दल-पी (पंवार ग्रुप) ने कांग्रेस सरकार पर राज्य आन्दोलन की उपेक्षा और शहिदों के सपनो को छलने का आरोप लगाया है। केन्द्रीय अध्यक्ष त्रिवेन्द्र सिंह पंवार ने कहा कांग्रेस व भापजा ने हमेशा ही जनता के साथ धोखा किया है और आज भी भारी दबाव के बाद भी उत्तराखण्ड की स्थाई राजधानी गैरसैंण नहीं बनाना चाहती।


उन्होनें कहा उत्तराखण्ड क्रान्ति दल 30 चरणों में उत्तराखण्ड का व्यापक भ्रमण करते हुए सदस्यता अभियान चला रहा है और जनता को एकजुट करने का प्रयास कर रहा है। जनसम्पर्क अभियान 5वें चरण में गैरसैंण पंहुचे उक्रांद नेताओं ने जनसभा की और वीर चन्द्र सिंह गढवाली की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया। सभा को सम्बोधित करते हुए राज्य आन्दोलनकारी बी एस बुटोला ने कहा चारों ओर भ्र्रष्टाचार का बोलबाला है और नौकरशाही मनमाने ढंग से काम कर रही है।


ukd gairsain
सभा को केन्द्रीय उपाध्यक्ष लताफत हुसैन, केन्द्रीय संगठन महामंत्री रघुवीर सिंह बिष्ट व अर्जुन सिंह रावत, जिलाध्यक्ष गोपाल दत्त कुमेडी, जिला महामंत्री पदम सिंह बिष्ट, अध्यक्ष महिला मोर्चा धूमा देवी व महामंत्री महिला मोर्चा मंजू राही ने सम्बोधित किया।


उत्तराखण्ड क्रान्ति दल-पी ने गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मांग को लेकर मशाल जुलूस निकाला। सायं 6 बजे चैराहे से प्रारम्भ हुआ जुलूस वीर चन्द्रसिंह गढवाली मार्ग, तहसील कार्यालय, पी डब्लू डी गैस्ट हाउस, ब्लाक कार्यालय, बाजार होता हुआ चैराहे पर समाप्त हुआ। श्री पंवार की अध्यक्षता में हुए मशाल जुलूस की समाप्ति पर उन्होंने कहा- कांगेस जन भावनाओ कर परवाह नही कर रही और राजनैतिक स्वार्थ के चलते जनता को गुमराह कर रही है। उन्होंने कहा- उत्तराखण्ड को दो राजधानियों की बन्दरबांट के अलावा कुछ नही है। उक्रांद अध्यक्ष ने कहा- गैरसैंण राजधानी के लिए उक्रांद ने एक राय विकसित की है और हम गैरसैंण को राजधानी बना कर ही दम लेंगे। जुलूस में लताफत हुसैन,विसर्जनसिंह बुटोला, अर्जुनसिंह, रधुवीरोिह बिष्ट, पदमसिंह आदि दर्जनों लोग शामिल थे।ं



उत्तराखण्ड चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी समिति सम्मेलन में गैरसैंण राजधानी बनाने की पुरजोर मांग

वर्तमान सत्र में क्षैतिज आरक्षण विधेयक नहीं आया तो त्यागपत्र- धीरेन्द्र प्रताप

कैबिनेट द्वारा आन्दोलनकारियों का क्षैतिज आरक्षण प्रस्ताव की मंजूरी पर जताया आभार


त्तराखण्ड चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी समिति (पंजी0) के 8वें प्रदेश सम्मेलन में गैरसैंण राजधानी की पुरजोर मांग की गई। सम्मेलन के प्रस्ताव में आन्दोलनकारियों को 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण का विधेयक वर्तमान सत्र में पारित करने, छुट गये आन्दोलनकारियों का चिन्हिकरण करने तथा राज्य परिवहन निगम की बसें जहां तक जाती हैं राज्य आन्दोलनकारियों को निःशुल्क यात्रा की मांग की गई।


उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी सम्मान परिषद उपाध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने कहा- वर्तमान में वर्तमान विधानसभा में यदि नहीं लाया गया तो वे त्याग पत्र दे देंगे। मुख्य अतिथि धीरेन्द्र प्रताप ने कहा वे आन्दोलनकारियों की मांगों के साथ हैं।

uttarakhand andolan2


विधानसभा उपाध्यक्ष डाॅ अनुसुया प्रसाद मैखुरी ने कहा वे आन्दोलनकारी व सरकार के प्रतिनिधि के रूप में समिति की मांगों का समर्थन करते हैं और इसी सत्र में आन्दोलनकारियों के आन्दोलनकारियों के सम्बन्ध में आने वाला विधेयक अच्छा होगा।


अध्यक्ष जे पी पाण्डे ने कहा समिति 16 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सभी 71 विधायकों को सादर देगी और वर्तमान सत्र में 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण, सभी आन्दोलनकारियों को समान पेंशन देने जैसी मांगों का सर्मथन करने की अपील करेगी। सम्मेलन संयोजक व जिलाध्यक्ष चमोली हरिकृष्ण भट्ट ने प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए कहा राज्यआन्दोलनकारियों की मांग नहीं मानी गई तो चिन्हित राज्य आन्दोलनकारियों को आन्दोलित होना पडेगा।


विशम्बर संकरियाल की अध्यक्षता में हुए सम्मेलन को दलवीर सिंह उत्तरकाशी, आर एस मनराल, वीरेनद्र बजेडा, जगमोेहन रावत, प्रकाश पाण्डे, गजेन्द्र बिष्ट, चन्द्र सिंह नेगी, तुलसीदास भट्ट, पुष्कर मेहरा, बसन्त भट्ट पिथौरागढ, योगेश तिवारी चम्पावत, अनीता नेगी कर्णप्रयाग आदि ने सम्बोधित किया। सम्मेलन का संचालन केन्द्रीय महामंत्री नवीन नैथानी ने किया। सम्मेलन में केन्द्रीय अध्यक्ष जे पी तिवारी ने पुरूषोत्तम असनोडा को सर्वसम्मति से केन्द्रीय प्रवक्ता नियुक्त करने की घोषणा की।


सम्मेलन में पान सिंह परिहार थराली, कुन्दन सिंह परिहार ग्वालदम, यशपाल रावत, आनन्दमणि अण्डोला, महावीर सिंह, मणीराम शास्त्री, संजीव कुमार ऊधमसिंह नगर, मोहम्मद हुसैन रामनगर, चन्दन ंिसह नेगी, मोहन तिवारी द्वाराहाट, होशियार सिंह पिथौरागढ, पुष्का सिंह मेहरा भीमताल, भारत सिंह राणा उत्तरकाशी, सुरेन्द्र सिंह नेगी, बृजलाल शाह, पुष्कर सिंह रावत, बी पी काला, हेमा मठपाल, रामचन्द्र गौड, पुष्कर कोलखी, वीरेन्द्र बिष्ट, शिवदत्त पाठक, अशोक साह सहित बडी संख्या में आन्दोलनकारी उपस्थित थे।

uttarakhand andolan


राज्य कैबिनेट द्वारा उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारियों को 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण प्रस्ताव को मंजूर किए जाने का उत्तराखण्ड चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी संगठन ने स्वागत करते हुए मुख्य मंत्री व मुत्री परिषद् का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने विपक्ष से भी अनुरोध किया है कि विधान सभा सत्र में एक मत से विधेयक पारित कर आन्दोलनकारियों की मांग को समर्थन देंगे।वही गैरसैंण सम्मेलन में शिरकत करने वाले सभी आन्दोलनकारियों का भी आभार जताया है।


केन्द्रीय अध्यक्ष जे पी पाण्डे ने कहा- यह आन्दोलनकारियों द्वारा लम्बे समय की जा रही मांग की पूर्ति है और सरकार को इसी गैरसैंण विधान सभा सत्र में विधेयक लाना चाहिए। राज्य आन्दोलनकारी सम्मान परिषद् उपाध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने राज्य आन्दोलनकारियों को 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण का विधेयक वर्तमान सत्र में पारित न होने की स्थिति में त्याग की घोषणा की थी। पाण्डे ने कहा- सभी राज्य आन्दोलनकारियों की एकता रंग लाई है और संगठन अपनी मांगें दृढता से उठाने की स्थिति में है।



कांग्रेस सम्मलेन की तैयारियां पूर्ण, कई कांग्रेसी पहुंचे गैरसैंण


कां

ग्रेस प्रदेश सम्मेलन की तैयारियां पूर्ण हो गई हैं। उपाध्यक्ष जोध सिंह बिष्ट, मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी, राजेन्द्र साह, सहित कई नेता यहां पंहुच गये है जबकि क्षेत्रीय विधायक डा अनुसुया प्रसाद मैखुरी सम्मेलन प्रभारी विजय सारस्वत व धीरेन्द्र प्रताप जेपी पाण्डे सहित कई नेता पिछले 2 दिनों से डेरा जमाये है और रामलीला मैदान को बैनर होल्डिंग से सजाया गया है। पी सी सी अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के दंर सायं अथवा कल प्रातः पंहूचने की उम्मीद है।


2 नवम्बर से प्रारम्भ हो रहे विधानसभा सत्र के मध्येनजर इस सम्मेलन का महत्व बताया जा रहा है पीसीसी चीफ किशोर उपाध्याय गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मंशा जाहिर कर चुके है और विधानसभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुंजवाल व उपाध्यक्ष डा अनुसुया प्रसाद मैखुरी पहले ही गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मांग करते रहे है।


साभार गैरसैंण समाचार (द्वारा फेसबुक)

Follow us: Uttarakhand Panorama@Facebook and UKPANORAMA@Twitter

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

fourteen + four =