गैरसैंण सत्र — ढाक के वही तीन पात!!! Congress-BJP slugfest leads to failed Assembly session

गैरसैंण सत्र — ढाक के वही तीन पात!!! Congress-BJP slugfest leads to failed Assembly session


गैरसैंण में चल रहे उत्तराखंड विधानसभा के सत्र के दूसरे दिन (नवंबर 3) को जबरदस्त हंगामा देखा गया जहाँ सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्ष भाजपा ने एक दूसरे पर जम कर आरोप-प्रत्यारोप लगाये। दूसरे दिन भी विधायी कार्य प्रभावित रहा। हालांकि अभी राज्य में चुनाव दो साल दूर है लेकिन कोई भी राजनितिक पार्टी इस तूतू-मैंमैं के खेल में पीछे नहीं रहना चाहती। इसका नतीजा यह निकला कि जो सत्र नवंबर 6 तक चलना था वह आज ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया
आइये डालते हैं दूसरे दिन की गतिविधियों पर एक नज़र…



गैरसैंण राजधानी को लेकर विपक्ष ने सदन में काटा हंगामा

पीठ तक पंहुचे विपक्ष की नियम 310 की मांग नहीं मानी विधानसभा अध्यक्ष ने

अभूतपूर्व हंगामा, धुला विधानसभा सत्र


गै

रसैंण मे आयोजित विधानसभा के दुसरे दिन उत्तराखण्ड की राजधानी गैरसैंण बनाये जाने को लेकर सदन में अभूतपूर्व हंगामा किया। नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने अपनी कुर्सी से कुदकर बेल में पंहुचे वहा मौजूद सहयोगी विधायको ने जमकर हंगामा काटा। इस दौरान विपक्षी विधायकों ने अध्यक्ष की ओर कागज उछाले जिनके रोकने के लिए मार्शल के आलावा सचिवालय से कर्मचारियों को आना पडा। हंगामें के कारण कार्यवाही कुछ देर के लिए बाधित रही किन्तु अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही पुनः शुरू कर दी।

gairsain nov 3-5
इस दौरान सदन में हंगामा कर रहे विपक्षी सदस्यों ने सदन में उन्हें रोके जाने को लेकर आरोप लगाया की सदन की मर्यादा के विपरीत पुलिस को बुलाया गया और इससे क्रुद्ध होकर नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत टेबल पर चढ गये और हंगामा खडा हो गया इस बीच विपक्षी सदस्यों ने इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग की और शोर शराबा जारी रखा। किन्तु विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही जारी रखी। हंगामे के चलते ही 4788 करोड 6 लाख 40 हजार रू की अनुपुरक बजट पारित कर दिया।


हंगामें के बीच मुख्यमंत्री ने संकल्प उत्तराखण्ड को ग्रीन व ब्ल्यू बोनस देने तथा विशेष राज्य का दर्जा लेने के संकल्प रखे जिसे विधानसभा ने ध्वनिमत से पारित कर दिया। अभूतपूर्व हंगामे के चलते अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुंजवाल ने सदन अनिश्चित काल के लिए स्थिगित कर दिया।


 

भाजपा विधायकों ने दिल्ली की नजरो में चढने के लिए किया हंगामा

संसदीय परम्पराओ की की हत्या-हरीश रावत


मु

ख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने मंत्रियों विधायकों के साथ प्रेस से मुखातिब होते हुए भाजपा पर दिल्ली की नजरो में आने हेतू सदन में हंगमा करने और संसदीय परम्पराओ की हत्या का आरोप लगाया। उन्होने कहा तथ्यात्मक रूप से आरोप है कि विपक्ष ने अध्यक्षी पीठ और अधिकारियों से धक्कामुक्की की और उनकी पीठ पर पुस्तकें फैंकी।

gairsain nov 3-3
राजधानी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा गैरसैक्ंण में 600 करोड के कार्य चल रहे हैं अथवा प्रस्तावित हैं। भाजपा बताये की उसके द्वारा स्थापित शिक्षा निदेशालय कहा है अन्तरिम सरकार ने गैरसैंण राजधानी क्यों नहीं बनाई और सन् 2007 से 2012 के बीच उन्होंने गैरसैंण के बीच कौन से विकास कार्य किये।


मुख्यमंत्री ने कहा गैरसैंण सत्र में अनुपुरक बजट में 15 प्रतिशत की बृद्धि सत्र की उपलब्धि है और हम सर्वानुमति से गैरसैंण राजधानी का सवाल तय कर लेंगे। नियम 310 पर चर्चा ना कराये जाने नर संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कोई भी सरकार अपने खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव नहीं लायेगी और 310 एक हिसाब से अविश्वास प्रस्ताव है।



सरकार गैरसैंण को लेकर कर रही राजनीति

संसदीय परम्पराओं की की हत्या- अजय भट्ट


ने

ता प्रतिपक्ष अजय भटट ने सरकार पर लोकतंत्र विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा वे ना ही गैरसैण को लेकर गम्भीर हैं। प्रेस वार्ता में उन्होने कहा भाजपा ने नियम 310 के तहत गैरसैंण राजधानी पर चर्चा की मांग की। प्रेस से वार्ता करते हए नेता प्रतिपक्ष ने कहा सदन से बाहर विधानसभा अध्यक्ष गैरसैंण राजधानी की बात करते हैं और जब उनसे नियम 310 में चर्चा स्वीकार करने की पुरजोर मांग की तो अध्यक्ष जी ने उसे स्वीकार नहीं किया।


भट्ट ने कहा भाजपा गैरसैंण राजधानी का समर्थन करती है और यदि सरकार राजधानी पर कोई चर्चा नहीं करना चाहती थी तो अनुपुरक बजट तो देहरादून में भी पारित किया जा सकता था। उन्होनें कहा सरकार ने सीडी काण्ड की सीबीआई जांच ना करा कर अप्रत्यक्ष रूप से अपनी भागीदारी मान ली है और उन्होनें जमीनों के सौदे करना प्र्रारम्भ कर दिया है और जिन्दल ग्रुप को जमीन सौदा इसी का उदाहरण है।


 

 भाजपा ने गैरसैंण राजधानी की मांग पर किया प्रदर्शन

पुलिस को बहाना पडा पसीना


गै

रसैंण राजधानी की मांग लेकर भाजपा विधायक जहां हंगामा कर रहे थे वहीं भाजपा कार्यकर्ता सदन के बाहर सडकों पर प्रदर्शन कर रहे थे। पहले गैैरसैंण बाजार में जूलूस निकालकर सरकार विरोधी और सकार के विरोध में नारे लगाकर प्रदर्शन किया।


बडी संख्या में एकत्र प्रदर्शनकारियों को एनएच पर ही रोक लिया जबकि बहुत सारे प्रदर्शनकारी गांव के रास्तों गुरिल्ला अंदाज में विधानसभा गेट तक पंहुच गये। जिन्हें पुलिस ने बडी मशक्कत से रोका। भाजपा के प्रदर्शन में मसूरी के विधायक गणेज जोशी के साथ कई विधायक शामिल हो गये। वहीं 4 भाजपाई सुरेन्द्र सिंह नेगी, हीरा प्रसाद गैडी, विरेन्द्र टम्टा व रामचन्द्र गौड विधानसभा के बाहर पंहुचे थे। जिन्हें पुलिस ने बमुश्किल बाहर किया।

gairsain nov 3


साभार: गैरसैंण समाचार (द्वारा फेसबुक)

Follow us: Uttarakhand Panorama@Facebook and UKPANORAMA@Twitter

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

two × five =