कौन लेगा आई.आई.एम-काशीपुर की सुध? IIM-Kashipur in the doldrums!!!

कौन लेगा आई.आई.एम-काशीपुर की सुध? IIM-Kashipur in the doldrums!!!


पांच साल पहले उत्तराखंड को पहला आई.आई.एम मिला जब काशीपुर में यह प्रसिद्ध संस्थान ने प्रबंधन की शिक्षा देना प्रारम्भ किया। उत्तराखंड में कुछ गिनती भर अच्छे संस्थानों को छोड़ कर उच्च शिक्षा के छेत्र में ज्यादा कुछ है नहीं, जिसमे आई.आई.टी-रूडकी, कृषि विश्वविद्यालय-पंतनगर, फारेस्ट रिसर्च संस्थान-देहरादून आदि शामिल हैं। ऐसे में लगा की आई.आई.एम-काशीपुर उत्तराखंड का नाम रोशन करेगा। पर हाल ही में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा निकली उत्कृष्ट संस्थानों की सूची में आई.आई.एम-काशीपुर ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है। और जब एक आर.टी,आई कार्यकर्ता ने आई.आई.एम-काशीपुर के मैनेजमेंट से ये जानना चाहा कि क्या उनके पास इस संस्थान के प्रदर्शन को सुधारने का कोई रोडमैप है, तो उनको जवाब सूझते नहीं बना। आइये जानते है आई.आई.एम-काशीपुर के हालात…


त्तराखंड के काशीपुर में स्थित भारतीय प्रबंध संस्थान (आई.आई.एम) का इन्डियन रैकिंग 2016 में प्रदर्शन अत्यन्त खराब रहा है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा अप्रैल 2016 में जारी इन्डियन रैकिंग्स 2016 में मैनेजमेंट कैटेगरी ”ए” में काशीपुर के आई.आई.एम. को 25 प्रबंधन संस्थानों में 21 वां स्थान स्थान प्राप्त हुआ है। जबकि इस सूची में शामिल सभी आई.आई.एम. इससे उच्च रैकिंग में है। लेकिन इसके बाद भी इसका स्तर सुधारने के लिये कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। यह खुलासा सूचना अधिकार के अन्तर्गत सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को आई.आई.एम.-काशीपुर द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है।


काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध इंडियन रैकिंग्स 2016 की मैनेजमेंट कैटेगरी ”ए” की रेकिंग सूची संलग्न करते हुये आई.आई.एम. काशीपुर से खराब रेकिंग के कारणों पर विचार करने तथा स्तर सुुधारने पर तथा विचार न करने तथा कार्यवाही न करने के रिकाॅर्ड पर उपलब्ध आधारों की सूचना मांगी थी। इसके उत्तर में आई.आई.एम. के लोेक सूचना अधिकारी ने अपने पत्रांक आर.टी.आई. संख्या 025/2016/474 दिनांक 23-05-16 से सूचित किया है कि पत्र की तारीख तक इस संदर्भ में कोई मीटिंग आयोजित नहीं की गयी है तथा कार्यवाही न करने तथा विचार न करने का कोई रिकाॅर्ड भी आई.आई.एम. काशीपुर के पास उपलब्ध नहीं हैै।

श्री नदीम के सूचना प्रार्थना पत्र के साथ संलग्न इंडियन रेकिंग 2016 मैनेजमेंट कैटेगरी ’’ए’’ में पहले स्थान पर बेंगलौर, दूसरे स्थान पर अहमदाबाद, तीसरे स्थान पर कलकत्ता, चौथे स्थान पर लखनऊ, पांचवें स्थान पर उदयपुर, छठे स्थान पर कोझीकोड, आठवेें स्थान पर भोपाल, दसवें स्थान पर इन्दौर, चैदहवें स्थान पर त्रिचुपल्ली, अठाहरवें स्थान पर रायपुर, उन्नीसवें स्थान पर रोहतक तथा इक्कीसवें स्थान पर काशीपुर का आई.आई.एम. शामिल हैं।

केवल इतना ही नहीं बल्कि कई अन्य संस्थानों का प्रदर्शन आई.आई.एम.-काशीपुर से अच्छा रहा है। जिसमें सातवे स्थान पर इन्टरनैशनल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट-नई दिल्ली, आठवें स्थान पर इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी-कानपुर, ग्यारहवें स्थान पर मैनेजमेंट डेवलपमैंट इस्टीट्यूट-गुड़गांव, बारहवें स्थान पर इन्टरनैशनल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट-कोलकाता, तेरहवें स्थान पर जेवियर लेबर रिलेशन इंस्टीट्यूट-जमशेदपुर, पन्द्रहवें स्थान पर टी.एस.एम.-मदुराई, सोलहवें स्थान पर एस.पी.जैन इंस्टीट्यूट-मुम्बई, सत्रहवें स्थान पर बेल्लाॅर इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी-बेल्लोर, बीसवें स्थान पर राजीव गांधी इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट-शिलांग रहे हैं।

iim-kashipur


Write to us at Uttarakhandpanorama@gmail.com

Follow us: UttarakhandPanorama@Facebook and UKPANORAMA@Twitter

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

14 + nine =