‘दाज्यू बोले’ Words of wisdom from ‘elder brother’!!!

‘दाज्यू बोले’ Words of wisdom from ‘elder brother’!!!

वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा पिछले चार-पांच बरस से फेसबुक पर लिख रहे है. दिलचस्प अंदाज में ‘दाज्यू बोले’ के बहाने कटाक्ष पढ़ कर मजा आता. दाज्यू का सशक्त किरदार स्मृति में रच-बस गया था. ऐसा लगता कि दाज्यू की नजर हम सब पर है. वह हमारे हावभाव, चालें, व्यवहारों पर कड़ी निगाह रख रहे हैं. दाज्यू वाले पोस्ट उनके प्रति उत्सुकता जगाते रहे. हम सबकी जिंदगी में घटित होने वाली रोजमर्रा की घटनाओं, मानवीय व्यवहारो पर दिनेश ने चुटीले अंदाज में दाज्यू के बहाने लिखा है. ये सब किस्से दिनेश के या हमारे आपके रोजमर्रा ज़िन्दगी के हिस्सा ही तो है,चुटीले अंदाज में. प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया-दिल्ली में दिनेश मानसेरा की किताब ‘दाज्यू बोले’ की विमोचन की शाम खासी सुर्खिया बटोर गयी। आइये जानते हैं कैसे…


जतक के पुण्यप्रसून वाजपेयी ने अपने सम्बोधन में उन पत्रकारो पर सवाल उठाया जो सत्ता के गलियारों में अपने फायदे के लिए अपना रास्ता बदल लेते है, उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस और बीजेपी में कोई फर्क नहीं रह गया पत्रकार भी अब लेफ्ट-राईट विचारधारा को छोड़ कर राजनेता बनते जा रहे है, श्री वाजपेयी ने कहा कि खुद मोदी जी संसद में कहते कि संसद में हास्य विनोद खत्म हो गया , जबकि हकीकत ये भी है कि आजकल व्यंग भी किसी को बर्दाश्त नहीं है।


एनडीटीवी इंडिया के राजनितिक संपादक मनोरंजन भारती ने कहा कि पहले भी पत्रकार राजनीति में आते रहे है और सांसद, प्रधानमंत्री बने है।


बीजेपी के उत्तराखंड अध्यक्ष अजयभट्ट ने कहा कि कोई न कोई ऐसी शक्ति ऐसी जरूर काम करती है जो कि पत्रकार हो या राजनेता उन्हें उनकी ऊंचाइयां जरूर देती है।


एनडीटीवी इंडिया की लोकप्रिय एंकर निधि कुलपति ने दाज्यू बोले पुस्तक को चुटीले अंदाज में पेश करने की दिनेश मान सेरा की कोशिशो को सराहा और किताब से कई अंश भी पढ़ कर सुनाये।


mansera3
बीजेपी राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी ने दिनेश मानसेरा को मीडिया में पच्चीस साल पूरे होने पर शुभकामनाएं दी और दाज्यू बोले के जरिये व्यंग लिखे जाने की भी तारीफ की, सांसद भगत सिंह कोशियारी ने कहा कि दिनेश ने जो भी दाज्यू बोले में लिखा वो उनका तजुर्बा ही नहीं हमारा भी तजुर्बा है।


दाज्यू बोले किताब लिखने वाले दिनेश मानसेरा ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया से अपनी पहचान बना कर किताब लिखने का नया प्रयोग किया है।


प्रेस क्लब के महा सचिव नदीम अहमद काज़मी ने कहा कि प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया किसी भी पत्रकार की किताब के विमोचन को खुद अपने खर्चे पर लांच करेगा।


इससे पहले यह किताब हल्द्वानी में रिलीज़ की जा चुकी है। इस मजेदार किताब के अलावा श्री मनसेरा ने कुमाऊं की लाइफलाइन कहे जाने वाली गौला नदी पर एक डॉक्यूमेंट्री भी बनायीं है जो की हल्द्वानी में पुस्तक विमोचन समारोह में प्रदर्शित की गयी। ‘मैं गौला’ हूँ एक महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्री है जो की बताती है की कैसे इस महत्वपूर्ण नदी के साथ छेड़छाड़ कर के पर्यावरण को भारी नुक्सान पहुँचाया जा रहा है।

“मैं गौला हूँ ” लघु फ़िल्म का “Youtube” link — लिंक —  https://www.youtube.com/watch?v=wPFzLnHA-xc

mansera4


Write to us at Uttarakhandpanorama@gmail.com

Follow us: UttarakhandPanorama@Facebook and UKPANORAMA@Twitter

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

six + 20 =