Conference to spread awareness about Insolvency and Bankruptcy Code to be held in Delhi

Conference to spread awareness about Insolvency and Bankruptcy Code to be held in Delhi

NEW DELHI, APRIL 13, 2017: H2 Life Foundation, a not-for-profit organization focused on public policy and advocacy, is organizing a one-day conference on “The Insolvency and Bankruptcy Code, 2016: Achievements, Challenges and the Way Forward”. The session will commence at 10:00 am on Saturday, April 15, 2017, at Gulmohar, India Habitat Centre, Lodhi Road, New Delhi. Dr. M. S. Sahoo, Chairperson, Insolvency and Bankruptcy Board of India will be the Guest of Honour.

The Insolvency and Bankruptcy Code, which was passed by the Parliament on 28th May 2016, is a welcome overhaul of the existing framework dealing with insolvency and bankruptcy conditions of corporates, individuals, partnerships and other entities. It paves the way for much needed reforms while focusing on creditor driven insolvency resolution.

Through the conference, H2 Life Foundation aims to spread awareness about the Insolvency and Bankruptcy Code. There will introspection on how does the code work, besides detailed discussions on the functioning of the governing body and power and functions of the committee and its effects on the layman, economy, banks, start ups, and cross-border insolvency. The conference will provide a unique opportunity to interact with Members of Parliament, economists, Non-Banking Financial Institutions, lawyers, CA’s, CS’, corporate, diplomats, think-tanks, and media.


सफलता के शिखर पर पहुंचना हर कंपनी का सपना होता है। लेकिन उस शिखर पर पहुंचने का जितना श्रेय कंपनी के मालिक को जाता है उतना ही कंपनी के कर्मचारियों को। क्यूं कि कर्मचारी किसी भी कंपनी की रीढ़ की हड्डी कहे जाते है लेकिन अक्सर ऐसा देखा गया है कि मालिक के कंपनी को बॉयकॉट कर देने से कर्मचारियों पर काफी असर पड़ता है। साथ ही उन्हें कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ता है। अब आपकी इन सभी परेशानियों का समाधान ‘द इनसोल्वेंसी और बैंकक्रप्सी कोड 2016‘ के तहत निकल सकता है। जिसकी हाल ही में केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शुरुआत की है जिसके चेयरपर्सन एम एस साहू है।

हालांकि इस कोड के बारे में बहुत कम लोग जानते है। लेकिन लोगों को हो रही इन समस्याओं से निजात दिलाने के लिए ‘एच-टू लाइफ फाउंडेशन’ ने एक कदम आगे बढ़ाते हुए दिल्ली के इंडियन हेबिटेट सेंटर में 15 अप्रैल को एक सेमिनार रखा है। इस सेमिनार में ‘द इनसोल्वेंसी और बैंकक्रप्सी कोड 2016’ के चेयरपर्सन एम एस साहू बतौर चीफ गेस्ट शामिल होंगे। जिसमें वो ना केवल इस कोड से जुड़ी जानकारी लोगों को देंगे साथ ही उनके सवालों का एक-एक करके जवाब देंगे।

ये सेमिनार सुबह 10 बजे से शाम के तकरीबन 4 बजे तक चलेगा। ‘एच-टू लाइफ फाउंडेशन’ एक एनजीओ है जिसका मेन फोकस लोगों को एक प्लेटफार्म देना है। इस प्लेटफार्म पर सेंट्रल से स्टेट गवर्नमेंट और अन्य किसी मुद्दे से जुड़े लोगों को एक छत के नीचे लाना और उससे युवाओं को जोड़ना है। ये एनजीओ ना केवल गवर्नमेंट से जुड़े क्लॉज के अलावा कई तरह के डिबेट, सेमिनार्स और एक्जबीशन भी करवाता है। जिसमें हेल्थ, डिफेंस, कृषि, रुरल डेवलपमेंट, एनवायरमेंट और टेक्नोलॉजी जैसे अहम मुद्दे शामिल है। इस एनजीओ के प्रेसीडेंट विकास शर्मा है।

h2life_


 

Write to us at Uttarakhandpanorama@gmail.com

Follow us: UttarakhandPanorama@Facebook and UKPANORAMA@Twitter

(Photo courtesy Linkedin.com)

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

eleven + seven =